आरती सिंह राव के रेवाड़ी से चुनाव लड़ने के आसार।

0 minutes, 1 second Read
Spread the love

धर्मपाल वर्मा

दक्ष दर्पण समाचार सेवा

dakshdarpan2022@gmail.com
चंडीगढ़
अहीरवाल में मजबूत जनाधार के नेता केंद्रीय मंत्री राव इंदरजीत सिंह उम्र के इस पड़ाव में आगामी विधानसभा चुनाव में निश्चित तौर पर अपनी बेटी आरती सिंह राव को अपनी राजनीतिक उत्तराधिकारी के रूप में विधानसभा भेजना चाहते हैं ,इसमें कोई संदेह नहीं है । वे मंच से भी कह चुके हैं कि आरती राव पिछले दो चुनाव से भारतीय जनता पार्टी की मदद करती आ रही हैं परंतु उन्हें टिकट नहीं मिली पर अब की बार आरती राव चुनाव जरूर लड़ेगी । मतलब साफ है भारतीय जनता पार्टी की टिकट नहीं मिली तो बेशक वह इंसाफ मंच की उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़े निश्चित तौर पर चुनाव लड़ेंगी। इसके लिए उन्होंने अपना जनसंपर्क भी शुरू कर दिया है। वह अहीरवाल की कहो या दक्षिणी हरियाणा के अधिकांश विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर चुकी हैं। अपने समर्थकों और जन सामान्य से मिल चुकी हैं।

रेवाड़ी से ही चुनाव लड़ेंगे आरती सिंह राव।

राजनीतिक पर्यवेक्षक इस राय के हैं कि बेशक आरती राव के चुनाव लड़ने के लिए मंडी अटेली, नांगल चौधरी सहित कई विधानसभा क्षेत्रों के नाम लिए जा रहे हो लेकिन वे रेवाड़ी से बाहर चुनाव नहीं लड़ेंगी ।इसके कई कारण हैं। इन्हीं कारणों के दृष्टिगत पिछले दिनों आरती राव ने अपने रेवाड़ी दौरे के समय सार्वजनिक तौर पर कहा कि कोई नांगल चौधरी का जिक्र करता है कोई मंडी अटेली का परंतु उनका मकसद रेवाड़ी से ही चुनाव लड़ने का है और रेवाड़ी से चुनाव क्यों ना लड़े यही उनका हल्का है उनका गांव इस हल्के में है उनका घर हल्के में है।
जहां तक राव इंद्रजीत सिंह का सवाल है उनका इरादा भी अपनी बेटी को रेवाड़ी से ही चुनाव लड़ाने का बताया जा रहा है। एक कारण यह भी है कि रेवाड़ी में भारतीय जनता पार्टी का सिटिंग एमएलए नहीं है यदि सिटिंग एमएलए होता तो आरती के लिए टिकट का सवाल थोड़ा मुश्किल हो सकता था। पिछले चुनाव में भी राव इंदरजीत सिंह के समर्थक उम्मीदवार ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा था लेकिन इसका लाभ कांग्रेस के चिरंजीव राव को मिल गया। राव इंद्रजीत सिंह इस बात को अच्छी तरह से समझते हैं कि भारतीय जनता पार्टी अहीरवाल में अपने मौजूदा विधायकों की टिकटें नहीं काटेगी लेकिन इनमें महेंद्रगढ़ एक अपवाद हो सकता है जहां उम्र का हवाला देकर रामविलास शर्मा की टिकट काटे जाने के हालात बन रहे हैं। राव इंदरजीत सिंह महेंद्रगढ़ के अलावा बादशाहपुर, गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्रों में अपने समर्थकों को चुनाव लड़ाने ही नहीं विधायक बनाने की जुगत में हैं और उन्हें 4 नए विधानसभा क्षेत्रों में सफलता भी मिल सकती है। ऐसे में उनके पास अगली विधानसभा में सात-आठ विधायकों का प्रेशर ग्रुप बनाने का अवसर रहेगा। गुरुग्राम नगर निगम के चुनाव में कई चीजें साफ हो जाएंगी और आजकल राव इंद्रजीत सिंह इसी काम पर फोकस किए हुए नजर आ रहे हैं।

एक सभा को संबोधित करती आरती सिंह राव।

जनसंपर्क अभियान के दौरान अपने समर्थकों के बीच आरती सिंह राव।

पिता राव इंद्रजीत सिंह के साथ आरती सिंह राव।

Similar Posts

हाईकोर्ट की निगरानी में हो नूंह हिंसा की न्यायिक जांच- हुड्डा। दंगा भड़काने और दंगा करने वालों पर होनी चाहिए सख्त कार्रवाई- हुड्डा।जनता को सुरक्षा देने में नाकाम साबित हुई बीजेपी-जेजेपी सरकार, सत्ता में बने रहने का नहीं है नैतिक अधिकार- हुड्डा।हर स्थिति से निपटने में सक्षम हरियाणा पुलिस, लेकिन सरकार नहीं देती उचित दिशा-निर्देश- हुड्डा।क्या सत्ताधारियों के लिए ही है सुरक्षा, आम जनता सुरक्षा के लिए कहां जाए?- हुड्डा। कोई कितनी भी कोशिश कर ले, हरियाणा के भाईचारे को नहीं तोड़ पाएगा- हुड्डा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *