राजस्थान में सामाजिक सुरक्षा पेंशन अब न्यूनतम हजार रुपए प्रतिमाह – राज्य सरकार पर आएगा 2222.70 करोड़ का प्रतिवर्ष अतिरिक्त भार

0 minutes, 0 seconds Read
Spread the love


दक्ष दर्पण समाचार सेवा

जयपुर, 27 मार्च..!!

सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना की बात करें तो हरियाणा में देश में सर्वाधिक 2750 रुपए प्रतिमाह की अदायगी हो रही है। जहां लोग क्या 1:00 ₹100 51 सो रुपए की मांग करते देखे जा सकते हैं परंतु राजस्थान में पेंशन की दर ₹1000 महीना करके मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इसे सरकार की बड़ी उपलब्धि के रूप में पेश कर रहे हैं। मुख्यमंत्री कहते हैं कि प्रदेश के सभी कमजोर वर्गों की सहायता करना राज्य सरकार का कर्तव्य है। कार की ओर से कहा गया है कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने मानवीय दृष्टिकोण रखते हुए सामाजिक सुरक्षा के तहत दी जाने वाली मासिक पेंशन राशि में बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। वर्तमान में देय 500-750 रुपए प्रतिमाह पेंशन राशि अब न्यूनतम 1 हजार रुपए प्रतिमाह मिलेगी।
1 मई, 2023 से बढ़ी हुई पेंशन श्री गहलोत की स्वीकृति से पेंशनधारियों को आर्थिक सम्बल मिलेगा। वृद्धावस्था, एकलनारी, विशेष योग्यजन, लघु एवं सीमांत कृषक पेंशन में पात्र आवेदकों को बढ़ी हुई पेंशन राशि माह मई से मिलेगी, जो कि एक जून 2023 को देय होगी।
2222 करोड़ रुपए का प्रतिवर्ष अतिरिक्त भार
सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं में पेंशन दरों में वृद्धि से अब राज्य सरकार पर प्रतिमाह 185 करोड़ रुपए और प्रतिवर्ष 2222.70 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार आएगा। अभी प्रतिमाह लगभग 700 करोड़ रुपए व्यय होते हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा वर्ष 2023-24 के बजट में न्यूनतम पेंशन राशि को बढ़ाकर एक हजार रुपए प्रतिमाह किए जाने की घोषणा की गई थी

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *