बिग ब्रेकिंग : सुरेंद्र नेगी मारपीट मामले में मंत्री प्रेम चंद्र अग्रवाल और गनर पर हुआ मुकदमा दर्ज, देखिए FIR

0 minutes, 3 seconds Read
Spread the love

शगुफ्ता परवीन

दक्ष दर्पण समाचार सेवा

Rishikesh: उत्तराखंड से इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है। उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल और सुरेंद्र नेगी के बीच हुई मारपीट मामले को लेकर बड़ी खबर है।

बता दें कि वीडियो वायरल होने के बाद प्रेमचंद के इस्तीफे और मुकदमे में प्रेमचंद अग्रवाल का नाम शामिल किए जाने की मांग को लेकर पीड़ित परिवार और उनके समर्थकों ने मंत्री के घर से लेकर कोतवाली तक प्रदर्शन किया।

पीड़ित पक्ष द्वारा पुलिस को एक अनुरोध पत्र दिया गया था जिसमें कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल का नाम सुरेंद्र सिंह नेगी की तरफ से किए गए मुकदमे में शामिल किए जाने को लेकर मांग की गई थी। आर टी आई डाली गई थी जिसमे ये साफ होगया की मंत्री पर मुकदमा हुआ है।

पुलिस द्वारा अनुरोध पत्र के जवाब में पीड़ित पक्ष को आज एक जवाबी पत्र सौंपा गया। जिसमें प्रेमचंद अग्रवाल, गौरव राणा, कौशल बिजलवान, व संदीप नेगी का नाम मुकदमे में नामजद के रूप में शामिल किया गया है। साथ ही एम्स चौकी ऋषिकेश में दी गई तहरीर को भी इस मुकदमे में समायोजित किया जाएगा।

ऋषिकेश में हुए चर्चित मारपीट मामले में मंत्री प्रेम चंद्र अग्रवाल ओर दो अन्य पर पुलिस ने FIR दर्ज की। मारपीट में वायरल वीडियो पर पुलिस ने की fir दर्ज। पुलिस की FIR मंत्री प्रेमचंद्र अग्रवाल नामजद कौशल बिजलवान, गनर गौरव राणा पर भी FIR।।

पुलिस ने FIR में नामजद अभियुक्त दर्शाया। FIR में हेड कांस्टेबल दीपक नेगी भी नामजद।। मारपीट के वायरल वीडियो में पुलिस ने की FIR।। RTI के तहत पीड़ितों ने मांगी की FIR कॉपी।।

Similar Posts

सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार के सबूत आये सामने : अनुराग ढांडा।आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा।सीएम के पूर्व ओएसडी नीरज दफ्तुवार के परिवार की कंपनी को 45 करोड़ की जमीन कोड़ियों के भाव कैसे हस्तांतरित हुई? : अनुराग ढांडा।45 करोड़ रुपये की नौ एकड़ जमीन मात्र 75 लाख रुपये में मिली, क्या बाकी पेमेंट भ्रष्टाचार के पैसे से हुई? : अनुराग ढांडा।पूर्व ओएसडी ने पत्नी और बेटे के साथ मिलकर, सीएमओ में रहते हुए किया घोटाला?: अनुराग ढांडा। 45 करोड़ की रिश्वत किस काम के बदले में मिली ?सीबीआई और ईडी से करवाएं करोड़ों के भ्रष्टाचार और मनी लांड्रिंग की जांच: अनुराग ढांडासीएम स्पष्ट करें कि 12 दिनों में सीएलयू कैसे जारी हुआ? क्या ये मामला उनके संज्ञान में था?सीएलयू मिलने से 2 दिन पहले करोड़ों की कंपनी 75 लाख में सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी के परिवार को कैसे मिली?सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार के सबूत आये सामने : अनुराग ढांडा।आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा।सीएम के पूर्व ओएसडी नीरज दफ्तुवार के परिवार की कंपनी को 45 करोड़ की जमीन कोड़ियों के भाव कैसे हस्तांतरित हुई? : अनुराग ढांडा।45 करोड़ रुपये की नौ एकड़ जमीन मात्र 75 लाख रुपये में मिली, क्या बाकी पेमेंट भ्रष्टाचार के पैसे से हुई? : अनुराग ढांडा।पूर्व ओएसडी ने पत्नी और बेटे के साथ मिलकर, सीएमओ में रहते हुए किया घोटाला?: अनुराग ढांडा। 45 करोड़ की रिश्वत किस काम के बदले में मिली ?सीबीआई और ईडी से करवाएं करोड़ों के भ्रष्टाचार और मनी लांड्रिंग की जांच: अनुराग ढांडासीएम स्पष्ट करें कि 12 दिनों में सीएलयू कैसे जारी हुआ? क्या ये मामला उनके संज्ञान में था?सीएलयू मिलने से 2 दिन पहले करोड़ों की कंपनी 75 लाख में सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी के परिवार को कैसे मिली?सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार के सबूत आये सामने : अनुराग ढांडा।आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा।सीएम के पूर्व ओएसडी नीरज दफ्तुवार के परिवार की कंपनी को 45 करोड़ की जमीन कोड़ियों के भाव कैसे हस्तांतरित हुई? : अनुराग ढांडा।45 करोड़ रुपये की नौ एकड़ जमीन मात्र 75 लाख रुपये में मिली, क्या बाकी पेमेंट भ्रष्टाचार के पैसे से हुई? : अनुराग ढांडा।पूर्व ओएसडी ने पत्नी और बेटे के साथ मिलकर, सीएमओ में रहते हुए किया घोटाला?: अनुराग ढांडा। 45 करोड़ की रिश्वत किस काम के बदले में मिली ?सीबीआई और ईडी से करवाएं करोड़ों के भ्रष्टाचार और मनी लांड्रिंग की जांच: अनुराग ढांडासीएम स्पष्ट करें कि 12 दिनों में सीएलयू कैसे जारी हुआ? क्या ये मामला उनके संज्ञान में था?सीएलयू मिलने से 2 दिन पहले करोड़ों की कंपनी 75 लाख में सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी के परिवार को कैसे मिली?सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार के सबूत आये सामने : अनुराग ढांडा।आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा।सीएम के पूर्व ओएसडी नीरज दफ्तुवार के परिवार की कंपनी को 45 करोड़ की जमीन कोड़ियों के भाव कैसे हस्तांतरित हुई? : अनुराग ढांडा।ढांडा।पूर्व ओएसडी ने पत्नी और बेटे के साथ मिलकर, सीएमओ में रहते हुए किया घोटाला?: अनुराग ढांडा। 45 करोड़ की रिश्वत किस काम के बदले में मिली ?सीबीआई और ईडी से करवाएं करोड़ों के भ्रष्टाचार और मनी लांड्रिंग की जांच: अनुराग ढांडा ।सीएम स्पष्ट करें कि 12 दिनों में सीएलयू कैसे जारी हुआ? क्या ये मामला उनके संज्ञान में था?सीएलयू मिलने से 2 दिन पहले करोड़ों की कंपनी 75 लाख में सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी के परिवार को कैसे मिली?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *