आप प्रदेश प्रभारी और राज्यसभा सांसद डॉ. सुशील गुप्ता और वरिष्ठ नेता डॉ. अशोक तंवर ने तरावड़ी दुर्घटना स्थल का दौरा किया।मृतक मजदूरों के परिवार से मिलकर सांत्वना दी, घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

0 minutes, 1 second Read
Spread the love






दक्ष दर्पण समाचार सेवा dakshdarpan2022@gmail.com

करनाल, 18 अप्रैल

अस्पताल में दाखिल एक मजदूर का हाल-चाल पूछते आम आदमी पार्टी के नेता।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी और राज्यसभा सांसदडॉ. सुशील गुप्ता और वरिष्ठ नेता डॉ. अशोक तंवर ने मंगलवार को तरावड़ी राइस मिल में पहुंचकर घटनास्थल का दौरा किया। उन्होंने घायल और मृतक मजदूरों के परिवारों से बातचीत की और खट्टर सरकार से इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

उन्होंने राइस मिल हादसे में मृत मजदूरों के परिवारों से मिलकर सांत्वना दी और मृतकों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि सुबह ही इस दुखद घटना की जानकारी मिली थी। अभी पता चला है कि इस हादसे में 4 मजदूरों की मौत हो गई, जबकि अभी तक 20 के घायल होने की जानकारी है। उन्होंने प्रशासन और हरियाणा सरकार से मृतक मजदूरों को 1 करोड़ मुआवजा देने की मांग की। साथ ही उन्होंने हादसे के कारण पूर्ण रूप से विकलांग मजदूरों को भी 10 लाख मुआवजा देने की मांग की। उन्होंने कहा कि सभी घायल मजदूरों को पूर्ण रूप से स्वस्थ होने तक उच्च स्तरीय चिकित्सा सुविधा प्रदान की जाएं।

कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज और विर्क अस्पताल में भी गए दोनों नेता

डॉ. सुशील गुप्ता और डॉ. अशोक तंवर दुर्घटना स्थल का दौरा कर कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में पहुंचे। वहां उन्होंने मृतकों के परिजनों से मुलाकात कर ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि सभी मृतक प्रवासी मजदूर थे, जोकि यहां से पैसे भेजकर अपने परिवार का भरण पोषण करते थे। इसलिए सरकार को आम आदमी पार्टी की मांग के अनुसार 1 करोड़ का मुआवजा देने चाहिए।

वहीं उन्होंने घायल मजदूरों से विर्क अस्पताल में मुलाकात की और उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। उन्होंने कहा कि सरकार घायल मजदूरों को निशुल्क और बढ़िया चिकित्सा सुविधा प्रदान करे। साथ ही उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ये सुनिश्चित करेगी कि इनके पूर्ण रूप से ठीक होने तक बेहतर इलाज मिले। उनके साथ बलविंदर सिंह, महेन्द्र पाल राठी, लाडी संधू, अमर सिंह, पवित्र, रेखा सिरसी और लाभ सिंह भी मौजूद रहे।

पार्टी के नेता पीड़ित परिवारों से भी मिले।

Similar Posts

हेली मंडी अलग हुई तो फिर पटौदी मंडी नगर परिषद में बचेगा ही क्या ?                                                                                                        अब हेली मंडी नगर पालिका को पूर्ववत रखने की बुलंद हुई आवाज                                                                                                                पंचायती धर्मशाला हेली मंडी में व्यापारियों एवं गणमान्य लोगों की बैठक                                                                                                            जौ तथा कासनी के व्यवसाय के लिए विख्यात अनाज मंडी हेली मंडी                                                                                                            पटौदी मंडी नगर परिषद में शामिल करने का बैठक में  हुआ विरोध                                                                                                                      1928 में पटौदी स्टेट ने नोटिफाइड एरिया के नाम से हेली मंडी को बसाया                                                                                                            सरकार को हेली मंडी से मिलता है करोड़ों रुपए का राजस्व प्रति वर्ष                                                                                   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *