29 अप्रैल को थी खुद की शादी 23 को दो बहनों की, 13 दिन पहले एक्सीडेंट, दूल्हे के हो गए चीथड़े चीथड़े। माता-पिता पहले ही नहीं है।

0 minutes, 0 seconds Read
Spread the love

डीपी वर्मा

दक्ष दर्पण समाचार सेवा dakshdarpan2022@gmail.com

सीकर । 23 साल का विक्रम परिवार का लाड़ला था। माता पिता की मौत हो चुकी है 29 अप्रैल को उसकी खुद की शादी थी और 23 अ ।प्रैल को उसकी दो बहनों की परंतु उसके जिस घर में विवाह शादी के मंगल गीत गाए जाने थे वहां अब कोहराम मचा है। विक्रम अपनी दुल्हन से जुदा हो गया दोनों बहनों को अकेली छोड़ गया वह अपने चचेरे भाई के साथ शादी के कार्ड बांटने गया तो बीच रास्ते में गाड़ी का खतरनाक तरीके से एक्सीडेंट गया।

नीयति के इस क्रूर फैसले के आगे परिवार ने घुटने टेक दिए हैं। मामला राजस्थान के झुझुनूं जिले का है और नवलगढ़ पुलिस इसकी जांच कर रही है। असल में नवलगढ़ इलाके में खेतड़ी के मनोता कला निवासी 23 साल के विक्रम की शादी 29 अप्रेल को उर्मिला उर्फ कुमकुम के साथ होनी थी। कार्ड बांटे जा रहे थे और तैयारियों जोरों पर चल रही थीं। विक्रम अपने फौजी दोस्त प्रवेश कुमार और अपने चचेरे भाई दिलीप कुमार के साथ एक ही कार में सवार था और शादी के कार्ड बांटने के लिए तीनों घर से निकले थे। कार्ड बांटने के दौरान सड़क पर जाते उनकी कार डूंडलोद फाटक के नजदीक अचानक बेकाबू हो गई और आगे चल रहे ट्रैक्टर में जा घुसी। हादसा इतना खतरनाक था कि आगे की सीट पर बैठे विक्रम और उसके दोस्त प्रवेश की मौत हो गई।
पता चला कि 23 अप्रेल को विक्रम की दो बहनों की शादी थी और उसके बाद 29 अप्रेल को विक्रम और उसके चचेरे भाई की शादी एक साथ होनी थी। लेकिन अब मौत ने घर में डेरा डाल लिया है। शादियों से पहले अर्थियां उठ रही हैं। सिर्फ रोने, बिलखने की आवाजें ही आ रही हैं।

विक्रम का फाइल फोटो

Similar Posts

देश का पहला अग्निवीर जम्मू कश्मीर में शहीद  लेकिन शहीद का दर्जा नही : कैप्टन अजय                                                                                  सरकार की नई पॉलिसी के तहत अग्निवीर को शहीद का दर्जा नही मिल सकता                                                                                                    न तो कांकरोला में विश्वविद्यालय ही बनवाया, न बिनोला में डिफेंस यूनिवर्सिटी बनवाई                                                                                        कांग्रेस की सरकार बनने पर अग्निपथ भर्ती बंद कर फौज में पक्की भर्ती होगी                                                               

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *