अपराध समीक्षा व कानून एवं व्यवस्था के मध्यनजर पुलिस लाईन में किया गया मीटिंग का आयोजन,

0 minutes, 1 second Read
Spread the love

दक्ष दर्पण समाचार सेवा dakshdarpan2022@gmail.com

पुलिस अधीक्षक करनाल श्री शशांक कुमार सावन बैठक की अध्यक्षता करते हुए।

चंडीगढ करनाल में 13 अप्रैल को कैथल रोड पर स्थित पुलिस लाईन के सभागार में पुलिस अधीक्षक करनाल श्री शशांक कुमार सावन की अध्यक्षता में अपराध समीक्षा व कानून एवं व्यवस्था के मध्यनजर मीटिंग का आयोजन किया गया। जिला पुलिस का कार्यभार संभालने के बाद पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा यह पहली मीटिंग ली गई। पुलिस लाइन के प्रांगण में पधारने पर सबसे पहले पुलिस अधीक्षक महोदय को सलामी दी गई व उनका स्वागत किया गया। इस मीटिंग में पुलिस अधीक्षक जिले के तमाम पर्यवेक्षण अधिकारी, थाना प्रबंधक, पुलिस चौकी इंचार्ज, सभी स्पेशल यूनिट इंचार्ज व पुलिस अधीक्षक कार्यालय के तमाम शाखा इंचार्जों से परिचित हुए।

   इस दौरान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा अपराध ना होने देने, अपराध होने की स्थिति में उसे जल्द ट्रेस कर पीड़ित को न्याय दिलाने और असल आरोपी को जल्द से जल्द व सख्त सजा दिलवाने के निर्देश दिए गए।  इस अपराध समीक्षा मीटिंग में पुलिस अधीक्षक द्वारा महिला विरुद्ध अपराध, वाहन चोरी, स्नैचिंग, लूट, डकैती, किडनैपिंग व हत्या करने जैसी गंभीर वारदातों की रोकथाम करने हेतु थाना प्रबंधकों व चौकी इंचार्जों को उचित व प्रभावी कदम उठाने के लिए सख्त निर्देश दिए गए। साथ ही पुलिस अधीक्षक महोदय ने शिकायतकर्ता की शिकायत को ध्यान पूर्वक सुनकर व पढ़कर नियम अनुसार त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके अलावा एनडीपीएस के तहत अपराध व अवैध नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने पर भी जोर दिया गया। इस मीटिंग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमति पुष्पा खत्री, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री मुकेश कुमार, उप पुलिस अधीक्षक करनाल-2 श्री गौरव फोगाट, उप पुलिस अधीक्षक शहर श्री बीरसिंह, उप पुलिस घरौंडा श्री मनोज कुमार, सभी थाना प्रबंधक, सभी चौकी इंचार्ज, स्पेशल यूनिट इंचार्ज व सभी शाखा इंचार्ज मौजूद रहे।

Similar Posts

जनता हमारे लिए सब कुछ, सीएम यानी कॉमन मैन और पीएम यानी प्राइमरी मेंबर ऑफ द सोसायटी का ध्यान रखना अधिकारियों की जिम्मेवारी – मुख्यमंत्री।मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक सचिवों, मंडल आयुक्तों और उपायुक्तों के साथ की अहम बैठक।अधिकारियों को दिए निर्देश, कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जमीनी स्तर तक पहुंचाना सुनिश्चित करें।जिला स्तर पर अपनाए माइक्रो मैनेजमेंट प्रणाली- मनोहर लाल।बेमौसम बारिश से खराब हुई फसल की विशेष गिरदावरी 15 अप्रैल तक की जाए, मई माह तक किसानों को दिया जाए पूरा मुआवजा – मुख्यमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *