अपहरण कर मारपीट करने और फिरौती मांगने के मामले में तीन आरोपित गिरफ्तार।पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण के दिशा–निर्देशों में महेंद्रगढ़ पुलिस द्वारा अपराधियों के खिलाफ की जा रही है सख्त कार्रवाई

0 minutes, 0 seconds Read
Spread the love

दक्ष दर्पण समाचार सेवा dakshdarpan2022@gmail.com

एसपी विक्रांत भूषण के कार्यकाल में इनके कुशल मार्गदर्शन एवम् नेतृत्व में महेंद्रगढ़ पुलिस द्वारा अबतक 3 गैंग के सरगनाओं व सदस्यों को किया जा चुका है गिरफ्तार

अपहरण कर मारपीट करने और फिरौती मांगने के मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण के निर्देशानुसार महेंद्रगढ़ पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपित कुलदीप उर्फ डॉक्टर गैंग से संबंध रखते हैं। पुलिस ने मामले में आरोपितों को उनके सरगना सहित गिरफ्तार किया है। जिनकी पहचान कुलदीप उर्फ डॉक्टर वासी खायरा, विष्णु वासी चामधेड़ा और रामदास वासी माजरा खुर्द के रूप में हुई है। पुलिस ने जांच करते हुए पता लगाया कि तीनों आरोपित अपराधिक प्रवृति के हैं। आरोपित कुलदीप के खिलाफ करीब ढाई दर्जन मामले, आरोपित रामदास के खिलाफ तीन मामले और आरोपित विष्णु के खिलाफ 1 मामला पहले से दर्ज है। आरोपितों की आज न्यायालय में पेश किया गया है।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि एडवोकेट वासुदेव ने थाना शहर महेंद्रगढ़ में शिकायत देते हुए बताया कि वह राज. उच्च न्यायालय जयपुर में वकालत करता है। उसने बताया कि कृष्ण कुमार ने महेंद्रगढ़ कोर्ट में एक सिविल मुकदमा रामदास के विरुद्ध कर रखा है, जिसमें वह कृष्ण की ओर से वकील है। एक अन्य मुकदमा राजेश व रामदास का उसी जमीन का महेंद्रगढ़ कोर्ट में चल रहा था। दिनांक 17 जनवरी को राजेश व रामदास के मुकदमे में कृष्ण का पक्षकार करने के लिए शिकायतकर्ता ने आवेदन किया था। उसके बाद वह घर जाने के लिए कोर्ट के बाहर बस का इंतजार कर रहा था, उसी समय सफेद रंग की फॉर्च्यूनर गाड़ी आई जिसमें रामदास, राजेश कुमार, कुलदीप, मनोज व 4 अन्य व्यक्ति बैठे थे, जिसे कालू चला रहा था। उसी समय रामदास ने कहा कि बेटा ये कागजात सुरेश वकील को दे देना। शिकायतकर्ता ने बताया कि जैसे ही वह कागज लेने के लिए गाड़ी के अंदर बैठा तो राजेश ने दरवाजा बंद कर लिया और गाड़ी को तेज रफ्तार से भगा लिया और कुलदीप के घर सतनाली मोड़ पर ले गए। उसने बताया कि जहां पर दो व्यक्ति राइफल लिए हुए खड़े थे और चार पिस्टल कुर्सी पर पड़ी हुई थी। इसके बाद आरोपित उसे दूसरे मकान पर ले गए और वहां उसके साथ मारपीट कर 18 लाख रुपए मांगे। आरोपितों ने शिकायतकर्ता से खाली कागज और परनोट पर अंगूठे व हस्ताक्षर करवा लिए और आवेदन वापिस ना लेने पर पैर तोड़ने की धमकी दी।

शिकायतकर्ता ने बताया कि दिनांक 13 मार्च को कृष्ण की तारीख थी, जब वह कोर्ट से बाहर आया तो रामदास व उसके साथियों ने उसे पकड़कर व्हाट्सएप कॉल के माध्यम से कुलदीप से बात कराई, कुलदीप ने कॉल पर 18 लाख रुपए मांगे। आरोपित ने दिनांक 15 व 17 मार्च को भी कॉल के माध्यम से उससे पैसे मांगे। शिकायतकर्ता ने नामजद व अन्य के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

मामले में कार्रवाई करते हुए महेंद्रगढ़ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज होने के 2–3 घंटे उपरांत ही तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनसे पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *